राज्यपाल ने फिर लौटाई विधानसभा सत्र बुलाने की फाइल, गहलोत बोले- फिर मिला प्रेम पत्र


राजस्थान का सियासी संकट अभी बरकरार है.... सियासी उठापटक के बीच राज्यपाल कलराज मिश्र ने विधानसभा का सत्र 31 जुलाई से बुलाने की अर्जी तीसरी बार लौटा दी है. इसके बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत चौथी बार राज्यपाल से मिलने पहुंचे. राज्यपाल से मुलाकात से पहले विधानसभा सत्र बुलाने के लिए गवर्नर की आपत्तियों वाली चिट्ठी पर गहलोत ने कहा कि प्रेम पत्र तो पहले ही आ चुका है, अब मिलकर पूछूंगा कि क्या चाहते हैं?

21 दिन के नोटिस की राज्यपाल की शर्त को लेकर बोले के कि 21 दिन हों या 31 दिन, जीत हमारी होगी. 70 साल में पहली बार किसी गवर्नर ने इस तरह के सवाल किए हैं. आप समझ सकते हैं कि मुल्क किधर जा रहा है?

राजभवन जाने से पहले गहलोत ने कहा था कि सरकार गिराने की साजिश की जा रही है, लेकिन हम मजबूत हैं. जिन्होंने धोखा दिया, वे चाहें तो पार्टी में लौटकर आ जाएं और सोनिया गांधी से माफी मांग लें. गहलोत ने गोविंद सिंह डोटासरा के कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष का पद संभालने के कार्यक्रम में यह बयान दिया.

Subscribe to Our Newsletter

  • White Facebook Icon

© 2023 by TheHours. Proudly created with Wix.com