राजस्थान में सियासी संकट खत्म होने के आसार, पायलट ने कहा- राजनीति में संयम और विनम्रता जरूरी


राजस्थान में मचे सियासी घमासान अब अपने अंतिम चरण में दिखाई दे रहा है. राहुल गांधी और प्रियंका की क्ट एंट्री के बाद राजस्थान का सियासी संकट दूर होने के संकेत मिल रहे हैं. राहुल गांधी और प्रियंका गांधी ने सचिन पायलट से लंबी बातचीत की... राहुल गांधी से मिलने पहुंचे पायलट ने पहली बार मीडिया से सामने अपनी बात रखी. पायलट ने कहा कि ‘पिछले डेढ़ साल में जो हुआ, वो आलाकमान को बताना जरूरी था. हम सत्ता-संगठन के कुछ मुद्दे रेखांकित करना चाहते थे’. पायलट ने कहा कि मुझे पद की लालसा नहीं है. पार्टी पद देती है तो पार्टी पद वापस भी ले सकती है. ये आत्मसम्मान की लड़ाई है. पायलट ने कहा कि ‘हमने जो भी मुद्दे उठाये वो पार्टी के बीच में उठाना था. राजनीति में संयम और विनम्रता बनाये रखनी चाहिए. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी ने साथी विधायकों की बात की’



कांग्रेस पार्टी की ओर से कहा गया कि सोमवार को सचिन पायलट ने पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात की. सचिन पायलट ने राजस्थान में कांग्रेस पार्टी और सरकार के हित में काम करने के लिए प्रतिबद्ध किया है. इस बैठक के बाद कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने फैसला किया है कि सचिव पायलट और विधायकों की मांग और समाधान के संबंध में तीन सदस्यों की एक समिति गठित की जाएगी, फिर उस पर आगे फैसला होगा....

इधर, पायलट गुट के विधायक भंवरलाल शर्मा मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मिलने मुख्यमंत्री निवास जयपुर पहुंचे हैं. इस मुलाकात से राजस्थान में सियासी अटकलें तेज हो गई हैं. गौरतलब है कि विधायकों की खरीद-फरोख्त का दो ऑडियो सामने आया था. कांग्रेस ने दावा किया था कि विधायक भंवरलाल शर्मा, बीजेपी नेताओं से विधायकों की डील कर रहे थे.

18 views0 comments

Subscribe to Our Newsletter

  • White Facebook Icon

© 2023 by TheHours. Proudly created with Wix.com